शुक्रवार, 12 मार्च 2010

लाइफ इस आउट ऑफ़ कण्ट्रोल

जब लाइफ हो आउट ऑफ़ कण्ट्रोल होटो को कर के गोल सिटी बेजा कर बोल अल इस हेल भेइया आल इज हेल
व्हाट इज लाइफ क्या पता है किसी को कोई बोलता है जीवन संघर्ष है कोई बोलता है जीवन जीने का नाम है कोई बोलता है जीवन रोज जीने का नाम है कोई बोलता है जीवन को हस कर जीना सीखो अबे यार जिसके ऊपर बीतती है और जो खाली दिल से काम लेता है और अपने से जयादा दुसरो की परवह करता है जेसे अपनी फॅमिली की और दोस्तों की उपर जितने भी तरीके बाये गए है जीवन  को जीने के इसे सिर्फ वो ही जी सकते है जिन्हें अपने अलावा किसी और की परवह न हो वो ही इंसान इसे जी सकता है हम भारतीयों की सबसे बड़ी dikat  yehi होती है की अपनी izaat और फॅमिली के bare mai kuch जायदा ही चिंता करते है अब आप ही sochiye की वो इंसान sukhi rhe सकता है जो ghut ghut कर jita है
 नहीं kabhi भी नहीं इस photo को dikhiye kute jesi halat है इस इंसान की shakal से ही preshaan najar aata है ye to kuch नहीं agar आप अब ise dekhenge to और deya aaygi आप को परन्तु ये इंसान deyaa  के लैक ही नहीं है बहुत मतलबी है ये अपने matlab के liye ही baat करता है कुछ तो येही सोचते है पर हमे क्या करना है इसे log सिर्फ अपने krmo का fal ही bhogte rehte है जीवन bhar इसे insaano के paas कुछ नहीं hota बीएस मांगने मै लगे रहते है कमीने बेडा kamina इंसान है ये ek number का kamina kutta esa iske कुछ khass जो iske दिल के paas रहते है वो भी bolte है अब आप betaliye इसे इंसान का क्या kra jaye क्या ये इंसान उपर betye gye teriko को जीने का hak rakhta है agar rakhta है तो kese ?
ये तो बहुत bada kamina है kese ये आप को अब iski kahaniya सुन कर पता chelega की जीवन kesa hota है और इसे कमीने इंसान भी इस duniya मै hote है .

10 टिप्‍पणियां:

अन्तर सोहिल ने कहा…

हा-हा-हा
भईया हमें तो कुत्तों-कमीनों से प्रेम है
आखिर अपनी जात छोडकर हम जायेंगें भी कहां ;-)

बढिया है लगे रहो

राम-राम

माणिक ने कहा…

नमस्कार
ब्लोगिंग की दुनिया में भरापूरा स्वागत करते हैं.आपके ब्लॉग पर आकर कुछ सार्थकता लगी है.यूहीं लगातार बने रहें और बाकी के ब्लोगों पर सफ़र करके अपनी राय जरुर लिखें.यही जीवन है.जो आपको ज्यादा साथियों तक जोड़ पायेगा.

सादर,

माणिक
आकाशवाणी ,स्पिक मैके और अध्यापन से सीधा जुड़ाव साथ ही कई गैर सरकारी मंचों से अनौपचारिक जुड़ाव
http://apnimaati.blogspot.com
http://maniknaamaa.blogspot.com

अपने ब्लॉग / वेबसाइट का मुफ्त में पंजीकरण हेतु यहाँ सफ़र करिएगा.
http://apnimaati.feedcluster.com/

shama ने कहा…

Tahe dilse swagat hai!

kshama ने कहा…

Shubhkamnaon sahit swagat hai..

kshama ने कहा…

Anek shubhkmnayen!

बेनामी ने कहा…

BE BRAVE & CONTROL YOURSELF, YOU HAVE POTENTIAL. ACKNOWLEDGE YOUR POTENTIAL & GO AHEAD & AHEAD. GOD WILL HELP YOU.DHERO SUBHKAMNAON KE SATH

SUSHIL GUPTA

98711 87283

Deepak ने कहा…

dhenywad aap sab ka

जयराम “विप्लव” { jayram"viplav" } ने कहा…

कली बेंच देगें चमन बेंच देगें,

धरा बेंच देगें गगन बेंच देगें,

कलम के पुजारी अगर सो गये तो

ये धन के पुजारी वतन बेंच देगें।

हिंदी चिट्ठाकारी की सरस और रहस्यमई दुनिया में राज-समाज और जन की आवाज "जनोक्ति "आपके इस सुन्दर चिट्ठे का स्वागत करता है . . चिट्ठे की सार्थकता को बनाये रखें . नीचे लिंक दिए गये हैं . http://www.janokti.com/ , साथ हीं जनोक्ति द्वारा संचालित एग्रीगेटर " ब्लॉग समाचार " http://janokti.feedcluster.com/ से भी अपने ब्लॉग को अवश्य जोड़ें .

Deepak ने कहा…

Thanx all of u

संगीता पुरी ने कहा…

इस नए चिट्ठे के साथ हिंदी ब्‍लॉग जगत में आपका स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!